Home ELECTRICAL Q & A DC Circuit question answer in hindi | Electrical question in hindi

DC Circuit question answer in hindi | Electrical question in hindi

0
SHARE

Q.1) तीन समान प्रतिरोध को  निचे दिए गये चित्र के अनुसार आपस में जोड़ा गया है | बिंदु A और B के बिच के तुल्य प्रतिरोध को ज्ञात करें |

हल –

इस प्रश्न को हल करने के लिए प्रतिरोधों के समांतर संयोजन को ध्यान में लाना होगा |

प्रतिरोधों के समांतर संयोजन में , कई प्रतिरोध जिन दो बिन्दुओं के बिच जुड़े होते है उन दोनों बिन्दुओ बिच सभी प्रतिरोधों पर वोल्टेज समान होता है |

इसी प्रकार का संयोजन यहां पर भी बन रहा है परंतु यह स्पष्ट हमें दिखाई नहीं दे रहा है इसलिए हम इसको समांतर क्रम संयोजन बनाने का प्रयास करेंगे|
। चित्र को देखने से यह स्पष्ट समझ में आ रहा है कि जो बोल्टता बिंदु A ही होगी वही वोल्टता बिंदु P की होगी क्योंकि A और P एक चालक से जुड़े हुए हैं|
इसी प्रकार बिंदु  B बोल्टता जो होगी वही बोल्टता बिंदु क्यों Q की भी होगी क्योंकि Q और B भी  आपस में एक चालक के माध्यम से जुड़े हुए हैं|
अब यदि बिंदु A को पकड़कर P से मिला दे और इसी प्रकार बिंदु B को पकड़कर Q से  मिला दे तो कुछ इस प्रकार का संयोजन प्राप्त होगा|

अब चूंकि हमे स्पष्ट दिख रहा है कि तीनो समान प्रतिरोध समांतर क्रम में है|

अतः

 

Q.2) निचे दिए गए चित्र में X और Y के बिच तुल्य प्रतिरोध ज्ञात कीजिये |

हल –

प्रश्न को हम व्हिट स्टोन ब्रिज के रूप में बदल सकते है |

चूंकि आप जानते है कि व्हिट स्टोन ब्रिज के अनुसार बिंदु P और Q पर सामान   वोल्टता होने के कारण 20Ω के प्रतिरोध से विद्युत् धारा प्रवाहित नहीं होगी | इसलिए हम 20Ω के प्रतिरोध हटा सकते है| जिससे निम्न चित्र के अनुसार परिपथ प्राप्त होगा |

चूंकि उपर के चित्र में दो निचे और दो उपर के  10Ω के प्रतिरोध श्रेणी क्रम में है |

इसलिए ,  R= 10Ω+10Ω

R=20Ω

1/R=1/20Ω + 1/20Ω

1/R=2/20

R=20/2

R=10Ω

 

 

Q.3) निचे दिए गए चित्र में टर्मिनल A और B के बिच तुल्य प्रतिरोध ज्ञात कीजिये |

हल –

प्रश्न को हम व्हिट स्टोन ब्रिज के रूप में बदल सकते है |

चूंकि आप जानते है कि व्हिट स्टोन ब्रिज के अनुसार बिंदु C और D पर सामान   वोल्टता होने के कारण बीच के प्रतिरोध R से विद्युत् धारा प्रवाहित नहीं होगी | इसलिए हम  बीच के प्रतिरोध R को हटा सकते है| जिससे निम्न चित्र के अनुसार परिपथ प्राप्त होगा |

चूंकि उपर के चित्र में दो निचे और दो उपर के प्रतिरोध श्रेणी क्रम में है |

इसलिए

R+R=2R

1/2R +1/2R =2/2R=1/R

ANS. टर्मिनल A और B के बिच तुल्य प्रतिरोध R होगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here