Home BASIC ELECTRICAL Electric field lines or lines of force in hindi

Electric field lines or lines of force in hindi

0
SHARE

विद्युत बल रेखाएं (Electric Lines of force) 

“किसी एक आवेश या कई आवेशों के समूह द्वारा उत्पन्न विद्युत क्षेत्र को काल्पनिक रेखाओं  के द्वारा प्रदर्शित किया जाता है| इन काल्पनिक रेखाओं को ही  विद्युत बल रेखाएं  (Electric Lines of Force or Electric field lines) कहते हैं |

  • ये बहुत  ही महत्वपूर्ण सूचक ( Visual Representation) होती  है जो कि विद्युत क्षेत्र को दिखाने का अर्थात  दर्शाने का कार्य करती  है |
  • विद्युत बल रेखाएं (Electric field lines ) वह मार्ग है जिससे होकर छोटा धनात्मक आवेश (Small Positive Charge) गमन करता है, यदि यह आवेश गति (Movment)  करने के लिए मुक्त (Free) होता है तो |
  • Electric field lines” सदैव धनात्मक आवेश से ऋणात्मक आवेश की ओर जाती हैं | 
चित्र अ

विद्युत बल रेखाएं (Electric field lines) तथा विद्युत क्षेत्र (Electric Field ) के बीच में निम्नलिखित संबंध स्थापित होते हैं-

 
  1. किसी धनात्मक विद्युत आवेश (Electric Charge) से निकलने वाले विद्युत बल रेखाओं की संख्या उस आवेश के परिमाण (Magnitude) के अनुक्रमानुपाती ( Directly Proportional) होती  है |
  2. विद्युत बल रेखाओं की दिशा सदैव विद्युत क्षेत्र (Electric field) की दिशा में ही होती है | 
  3. विद्युत बल रेखाएं (Electric Lines of Force) सीधी भी हो सकती है |
  4. विद्युत बल रेखाओं पर किसी बिंदु पर विद्युत क्षेत्र की दिशा उस बिंदु से विद्युत बल रेखा के स्पर्श रेखा की दिशा में होता है |
  5. विद्युत बल रेखाओं (Electric Lines of Force) के बीच का अंतराल उस क्षेत्र के  विद्युत क्षेत्र की तीव्रता या सामर्थ्य (Electric Field Intensity or Strength)  को प्रदर्शित करता है |
  6. यदि विद्युत बल रेखाएं एक दूसरे के निकट होती है तो उस क्षेत्र में विद्युत क्षेत्र की तीव्रता  (Electric Field Intensity or Strength) प्रबल (Strong) होगी और यदि किसी क्षेत्र में विद्युत बल रेखाएं एक दूसरे से दूर है तो उस क्षेत्र में विद्युत क्षेत्र की तीव्रता कमजोर होगी |
 

विद्युत बल रेखाओं का गुण (Properties of Electric field lines)

  1. ( चित्र ब में ) विद्युत बल रेखाएं किसी धनात्मक विद्युत आवेश से दूर तथा किसी ऋणात्मक आवेश की ओर जाती हैं|
    Electric field definition in hindi | विद्युत क्षेत्र
    चित्र ब
  2. ये रेखाएं ( चित्र अ में ) धनात्मक आवेश से प्रारंभ होती हैं तथा ऋणात्मक आवेश पर इनका अंत हो जाता है |
  3. बल रेखाएं किसी आवेश की सतह से सदैव लंबवत (Normaly) निकलती  है ( चित्र ब में ) तथा सदैव आवेश में लंबवत (Normally) ही प्रवेश करती  है।
  4. विद्युत बल रेखाएं किसी चालक के अन्दर से होकर नहीं जा सकती|
  5. किसी चालक के अंदर विद्युत बल रेखाओं के न होने के कारण चालक के अंदर electric field शून्य होता है|
  6. किसी एक ही आवेश से निकली या प्रवेश कराती हुई विद्युत बल रेखाएं कभी एक दूसरे को प्रतिछेदित नहीं कर सकती |

NOTE:-क्या आप किसी प्रतियोगी परीक्षा जैसे Rly. SSC आदि की तैयारी कर रहे हैं। यदि हां तो हम आपके लिए सामान्य ज्ञान के अति महत्वपूर्ण प्रश्नों का QUIZ APP लेकर आए हैं। यह ऐप आपके लिए बहुत ही सहायक सिद्ध होगा। इस ऐप को क्लिक  करके  डाउनलोड कीजिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here