Home BASIC ELECTRICAL Types of Magnets in hindi | चुंबकों के प्रकार

Types of Magnets in hindi | चुंबकों के प्रकार

0
SHARE

चुंबकों के प्रकार ( Types of Magnets)

चुंबक दो प्रकार ( Two Types of Magnets) के होते हैं –

1.) प्राकृतिक चुंबक (Natural Magnet)
2.) कृत्रिम चुंबक (Artificial Magnet)

1.) प्राकृतिक चुंबक(Natural Magnet)-

मूल रूप में पृथ्वी से प्राप्त होने वाले चुंबक को प्राकृतिक चुंबक (Natural Magnet) कहते हैं| जैसे- चुंबक पत्थर

2.) कृत्रिम चुंबक (Artificial Magnet) –

जिन चुंबकों को चुंबकीय करण विधि के द्वारा बनाया जाता है उन्हें कृत्रिम चुंबक (Artificial Magnet) कहते हैं | इस्पात या लोहे की छड़ों को चुंबक पत्थर से रगड़ने से या इस्पात या लोहे की छड़ों या  टुकड़ों के ऊपर और कुंडली कुंडलित (Coile Wounding) करके उसमें दिष्ट धारा (DC Current) प्रवाहित करने पर कृत्रिम चुंबक  (Artificial Magnet) बनाए जा सकते हैं |इस विधि द्वारा बनाए गए चुम्बकों को विद्युतचुंबक (Electromagnet) कहते हैं |

विदुतचुंबक, Electromagnet

 

कृत्रिम चुंबक (Artificial Magnet) दो प्रकार के होते हैं  –

1.)स्थाई चुम्बक (Permanent Magnet)
२.)अस्थाई चुम्बक (Temporary Magnet)

1.)स्थाई चुम्बक(Permanent Magnet)-

चुंबक यदि किसी चुंबकीय गुण वाले पदार्थ जैसे इस्पात को एक प्रबल चुंबकीय क्षेत्र (Strong Magnetic Field) में रख दिया जाए तो वह प्रेरण (Induction) के द्वारा चुंबक बन जाता है| यदि उसे चुंबकीय क्षेत्र (Magnetic Field) से हटा दिया जाए तो भी वह चुंबक की तरह कार्य करता है तथा अपने इस गुण को अधिक समय तक बनाए रहता है | इस प्रकार के चुंबक को स्थाई चुंबक (Permanent Magnet) कहते हैं और इस तरह यह प्रदार्थ स्थाई चुंबक (Permanent Magnet) बन जाता है| स्थाई चुंबक (Permanent Magnet) बनाने के लिए इस्पात , टंगेस्टन स्टील , सिलिकॉन, स्टील, निकील ,कोबाल्ट, मैगनीज आदि उत्तम पदार्थ है |  स्थाई चुंबक (Permanent Magnet) अपने चुम्बकत्व का गुण खो सकता है |यदि इसपे  बहुत  यांत्रिक आघात लगाया जाए या  इसे गर्म किया जाए | स्थाई चुंबक (Permanent Magnet) का प्रयोग  विधुत युक्तियों ,इयरफोन, लाउडस्पीकर आदि का प्रयोग व्यापक स्तर पर किया जाता है |

२.)अस्थाई चुम्बक –

यदि किसी प्रदार्थ को चुंबकीय क्षेत्र (Magnetic Field) में रखे जाने पर चुंबकीय गुण आ जाता है परंतु जैसे ही उस पदार्थ को चुंबकीय क्षेत्र से हटा दिया जाता है | उसका चुंबकीय गुण समाप्त हो जाता है तो ऐसे निर्मित चुंबक को अस्थाई चुंबक (Temporary Magnet) कहते हैं | जब नरम लोहे के टुकड़े को किसी चुंबकीय क्षेत्र में रखा जाता है तो प्रेरण (Induction) के द्वारा चुंबक बन  जाता है और यह गुण तब तक बना रहता है, जब तक कि चुंबकीय क्षेत्र  (Magnetic Field) में रहता है| यदि इस पदार्थ को चुंबकीय क्षेत्र  (Magnetic Field) से हटा लिया जाता है तो इसका चुंबकीय गुण समाप्त हो जाता है|

NOTE:-क्या आप किसी प्रतियोगी परीक्षा जैसे Rly. SSC आदि की तैयारी कर रहे हैं। यदि हां तो हम आपके लिए सामान्य ज्ञान के अति महत्वपूर्ण प्रश्नों का QUIZ APP लेकर आए हैं। यह ऐप आपके लिए बहुत ही सहायक सिद्ध होगा। इस ऐप को क्लिक  करके  डाउनलोड कीजिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here