Home BASIC ELECTRICAL संधारित्र | what is Capacitor in hindi

संधारित्र | what is Capacitor in hindi

0
SHARE

Capacitor definition

“किसी इलेक्ट्रिकल या इलेक्ट्रॉनिक्स परिपथ में प्रयोग होने वाला वह अवयव जोकि अपने अंदर विद्युत आवेश को store संरक्षित करने की क्षमता रखता है, संधारित्र (Capacitor)  कहलाता है| ”

  • संधारित्र एक प्रकार का passive device है|

Note:-इलेक्ट्रिकल या इलेक्ट्रॉनिक सर्किट में प्रयोग होने वाले उन डिवाइसों को passive device कहते हैं जोकि परिपथ से इलेक्ट्रिक ऊर्जा को ग्रहण करते हैं और फिर इस ऊर्जा को या तो उष्मा में  बदल देते हैं या फिर इस ऊर्जा को संरक्षित कर लेते हैं|

Capacitors physics

संधारित्र में दो या दो से अधिक प्लेटें होती है जो की विभिन्न आकारों जैसे आयताकार, वर्गाकार, वृत्ताकार, गोलाकार या बेलनाकार में हो सकती हैं |

  • ये प्लेटें  एक दूसरे से या तो समांतर रहती हैं या फिर संकेंद्रीय बेलन या गोले  के रूप में रहती हैं|

संधारित में प्रयोग होने वाली सभी  प्लेटें एक दूसरे से किसी विद्युतरोधी पदार्थों से अलग की गयी  रहती है|

  •  प्लेटो के बीच में विद्युत रोधी पदार्थ के रूप में सामान्यतः  माइका, कागज, पोर्सलिन ,लकड़ी आदि और कुछ संधारित्रों में  liquid gel का प्रयोग किया जाता है|
  • प्लेटो के बीच में प्रयोग होने वाले विद्युतरोधी पदार्थ को परावैद्युत पदार्थ कहते हैं|

कुछ Capacitor ऐसे होते हैं जिनके दोनों प्लेट के बीच में केवल वायु ही रहती है| इस प्रकार के संधारित्र को Air Capacitor कहते हैं|

जब दो प्लेटो वाले संधारित्र को किसी परिपथ में जोड़ा जाता है तो इसके एक प्लेट पर धन आवेश तथा दूसरे प्लेट पर ऋण आवेश एकत्रित हो जाते हैं जिससे इन दोनों प्लेटों के बीच विभवांतर स्थापित हो जाता है|

चूंकि हम सब जानते हैं कि संधारित्र की तरह ही बैटरी में भी दो टर्मिनल होते हैं| उसके एक टर्मिनल पर धन आवेश तथा दूसरे टर्मिनल पर ऋण आवेश होते हैं| इसलिए संधारित्र को छोटे आकार की Rechargeable battery कहते हैं |

  • जब संधारित का प्रयोग किसी DC परिपथ में किया जाता है तो यह परिपथ में प्रवाहित होने वाली DC धारा को रोक देता है लेकिन यदि परिपथ में ऐसी धारा प्रवाहित हो रही होती है तो उसे प्रवाहित होने देता है|

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here